सोमवार, 28 दिसंबर 2020

पोलो फॉरेस्ट, विजयनगर - Polo Forest, Vijaynagar, Sabarkantha

about-Polo-Forest

पोलो फॉरेस्ट गुजरात: पोलो फॉरेस्ट जंगल का नाम पढ़कर भले ही आपको ऐसा लगे जैसे मैं किसी जंगल के बारे में बात करने जा रहा हूँ लेकिन पोलो फॉरेस्ट नार्मल फॉरेस्ट से कुछ ज्यादा ही है।

पोलो फॉरेस्ट विजयनगर में स्थित प्राकृतिक जगह है बारिश के दिनों में यह जगह काफी ज्यादा खूबसूरत हो जाती है और यहाँ का मौसम भी सुहावना हो जाता है। Polo Forest 1 Day Trip के लिए बहुत अच्छी जगह है।

लोग यहाँ पर प्रकृति के खूबसूरत नज़रों को देखने जाते हैं। हालाँकि यहाँ पर रात को रुकने की ख़ास व्यवस्था सीमित है अगर आपको पोलो फॉरेस्ट के बारे में ज्यादा जानकारी नही है।


और यहाँ जाने से पहले इसके बारे में जानना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके बहुत काम आने वाली है। यहाँ मैंने पोलो फॉरेस्ट के बारे में जरूरी जानकारी दी है जिससे आप पोलो फॉरेस्ट के बारे सबकुछ जान सकेंगे।

पोलो फॉरेस्ट के बारे में ( About Polo Forest)

पोलो फॉरेस्ट गुजरात राज्य के साबरकांठा (Sabarkantha) जिले में “विजयनगर तालुका” में स्थित सूखा मिश्रित पर्णपाती वन है। यह अभापुर गाँव के नज़दीक है। यह 400 वर्ग किमी (99,00 एकड़) के क्षेत्र में फैला हुआ, अरावली रेंज की तलहटी में स्थित है और बहरमासी हरनव नदी के तट पर, है।

पोलो फॉरेस्ट में पोलो नाम “पोल” से लिया गया है जिसका मारवाड़ी भाषा में शाब्दिक अर्थ है “एक द्वार”। इसको ऐसा नाम इसलिए दिया गया था क्योंकि पोलो को राजस्थान और गुजरात के बीच का द्वार माना जाता है।

यह जगह एक दिन की पिकनिक के लिए ऐतिहासिक स्थल है। यह क्षेत्र कुदरती सौंदर्य से भरपूर हरे भरे पहाड़ों के बीच में स्थित है और अपने परिवार या दोस्तों के साथ एक दिन की ट्रिप या पिकनिक मनाने के लिए बहुत ही अच्छी जगह है।

यहाँ पर झरने, नदी, तालाब, डेम, स्मारक और ऐतिहासिक मंदिर मौजूद है जिस वजह से यह जगह प्रकृति प्रेमियों के लिए किसी जन्नत से कम नही है। आपको बता दूँ इस जगह पर लोग प्री वेडिंग शूट के लिए भी जाते हैं और फोटो ग्राफी के लिए भी काफी अच्छी जगह है।

अगर आप शहर की भीड़ भाड़ और शोर भरी जिंदगी से ऊब गये हैं तो यहाँ आकर सुखद अनुभव कर सकते हैं। यह अहमदाबाद से तकरीबन 158 किमी दूर, Vadodara से 258.2 km है, हिमतनगर से 70 किमी और mehsana से 135.6 किमी हैं।

इन्हें भी देखें

पोलो फॉरेस्ट का इतिहास (History of Polo Forest)

पोलो फॉरेस्ट में मौजूद स्मारक को ईदर के परिहार राजा के द्वारा बनवाया गया था और उन्होंने ही 10 वीं शताब्दी में संभवतः इस नगर को स्थापित किया था। परिहार राजा के बाद यह इलाक़ा राठौर राजपूत के अधीन आ गया

वनस्पति और जीव जंतु (Flora and Fauna)

यहाँ पर औषधीय पौधों और जीव जंतु की की अलग अलग प्रजातियाँ हैं। यहाँ पर कई तरह पक्षी, जीव जंतु मौजूद है जैसे तेंदुए, पैंथर, हाईना,रैप्टर , चार सींग वाले हीरण, किवी पक्षी, जंगली बिल्लियाँ और उड़ने वाली गिलहरी इत्यादि हैं।

करने लायक चीजें (Polo Forest things to do)

पोलो फॉरेस्ट में घूमने और करने के लिए कई सारी चीजें हैं जब आप यहाँ जाते हैं तो जैन लोगो के मंदिर को देख सकते हैं। नेचुरल जगह पर ट्रैकिंग के शौकीन लोगों के लिए यह जगह काफी अच्छी है।

यहाँ आते समय आपको रास्ते में काफी खूबसूरत नज़ारे देखने को मिलेंगे। इसके अलावा यहाँ पर 15 शताब्दी के जैन मंदिर मौजूद हैं जिनको देखकर आप उस समय की कल्पना कर सकते हो।

पोलो फॉरेस्ट में एक ऐसी जगह है जहाँ पर आपको काफी सारे पेड़ एक ही लाइन में लगे हुए दिखाई देंगे एक लाइन से लगे हुए पेड़ देखने में काफी सुन्दर लगे हैं। आप वहां उन पेड़ो के बीच आसानी से जा सकते हो और नजारों का आनंद ले सकते हो।

Polo-Forest

Polo Forest में घूमने लायक जगह (Best Point to Visit in Polo Forest)

polo forest

यहाँ पर कई सारे स्मारक और मंदिर हैं इस जंगल में 15 शताब्दी के जैन और हिन्दू मंदिर के खंडहर मौजूद हैं जैसे शर्नेश्वर शिव मंदिर, सद्वेता सवलिंगा न डेरा, सूर्य मंदिर, लखेना न डेरा।

पोलो फॉरेस्ट में मौजूद ज्यादातर जैन और हिन्दू मंदिर अभापुर गाँव और आतरसूबा गाँव में स्थित है। ये मंदिर राज्य पुरातत्व विभाग द्वारा बहाल और प्रतिबंधित किये जाते हैं।

polo forest

लाखेणा ना डेरा (Lakhena na Dera)

Lakhena na Dera

यह 15 वीं शताब्दी में बनाया गया था जिसमे मुख्यता 3 जैन मंदिर हैं जो की आभापुर गाँव मे स्थित है यही पर एक 13 किमी लंबी सुरंग हैं जो ईदर किले तक जाती है।

1. जैन मंदिर 1 - यह मंदिर बलुआ पत्थर का बना हुआ है मंदिर की छत में आकर्षक डिज़ाइन की गयी है गर्भ गृह के द्वार पर अपने परिचारक देव पद्मावती के साथ जैन तीर्थकर पार्शवनाथ की प्रतिमा है।

2. जैन मंदिर 2 - यह मंदिर संगमरमर और ईटों से बना हुआ त्रि अंगी मंदिर (तीन तत्व) है मंदिर के प्रवेश द्वार के मध्य पार्शवनाथ की मूर्ति है

3. जैन मंदिर 3 - यह मंदिर भी बलुआ पत्थर और ईटों से बना हुआ है। इस मंदिर की बाहरी दीवारों पर जैन तीर्थकर पार्शवनाथ, नेमिनाथ और ऋषभनाथ से जुडी हुई पद्मावती, अम्बिका और चक्रेश्वरी की प्रतिमा है।

हर्नव बाँध या वाणेज डेम (Harnav Dam Site)

polo-forest

यह बाँध हरनव नदी पर बना सुन्दर बाँध है यह जगह पक्षी प्रेमियों के लिए बहुत ही अच्छी जगह है। इस बाँध पर नहाने की मनाही है।

पोलो फॉरेस्ट जाते समय यहाँ पर आपको जरूर विजिट करना चाहिए। यहाँ पर आकर आप नदी के प्रवाह को देख सकते हो और नीचे उतर कर डैम को देख सकते हो।

त्रायतन शिव शक्ति मन्दिर (Trayatan Shiv Temple)

15 वीं शताब्दी में बना यह मंदिर आभापुर में स्थित है। इस मंदिर में ब्रह्मा, विष्णु, महेश, पार्वती, गणेश, यम, भैरव, इंद्र - इन्द्राणी की मूर्तियों की नक्कासी की गयी है।

पोलो वन इको पॉइंट (Polo Forest Eco Point)

Polo Forest Eco Point

पोलो फॉरेस्ट में ईको पॉइंट काफी अच्छी जगह है आप इस जगह पर घूमने जरूर जाएँ और मिस मत करें। ईको पॉइंट ऐसी जगह होती है जहाँ पर जोर से चिल्लाने पर अपनी आवाज़ सुनाई देती है।

यहाँ पहुँचकर आप जोर से चिल्ला कर अपनी आवाज़ को सुन सकते हो। ईको पॉइंट पहुचने के लिए आपको उबड़ खाबड़ रास्तों से होकर गुजरना पड़ता है। Youtube पर काफी पोलो फॉरेस्ट का वीडियो मौजूद हैं.

पोलो महोत्सव (Polo Mahotsav)

प्रत्येक साल, गुजरात सरकार द्वारा पोलो महोत्सव का आयोजन किया जाता है जिसमे कई कार्यक्रम जैसे साइकिल चलाना, शिविर लगाना और अन्य चीजें शामिल होती है ।पोलो उत्सव का आनंद लेने के लिए सरकार द्वारा स्थापित पोलो कैंप सिटी में ठहर सकते हैं।

पोलो फॉरेस्ट प्रवेश शुल्क (Polo Forest entry Fees Ticket) & Other Charges

Polo Forest घूमने के लिए पूरी तरह से फ्री स्थान है आपको यहाँ पर कोई भी टिकट नही लेनी है हालाँकि अगर आप यहाँ पर एक दिन की ट्रिप के लिए जा रहे हैं तो अपने साथ खाना पीना जरूर साथ ले जाएँ

जाने का सही समय ( Polo Forest best time to visit)

पोलो फॉरेस्ट साल में आप कभी घूमने जा सकते हो लेकिन बेस्ट टाइम मानसून हैं मानसून के समय यहाँ पर हरियाली काफी बढ़ जाती है और मौसम भी सुहावना हो जाता है ठंडी ठंडी हवा के झोके आपको एक अलग ही अहसास करायेंगे।

इसी समय ही आप प्रकृति की सुन्दर हरियाली देख सकते हो। मानसून के बाद नदी में पानी भर जाता है यहाँ की हर्नव नदी केवल मानसून के महीने में भी बहती है। नदी में पानी भरने से यहाँ आप बोटिंग भी कर सकते हैं।

कैसे पहुंचा जाए (How to Reach)

हवाई जहाज और ट्रेन से - पोलो फॉरेस्ट से सबसे निकटतम हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन अहमदाबाद ही है जो की 160 किमी दूर है। यहाँ पहुचने के बाद बस, कैब या प्राइवेट कार द्वारा पोलो फॉरेस्ट पहुँच सकते हैं।

बस, कैब या कार - पोलो फॉरेस्ट अहमदाबाद से 160 किमी की दूरी पर, गुजरात में हिम्मत नगर से 70 किमी और उदयपुर राजस्थान से 120 किमी की दूरी पर स्थित है। सड़क मार्ग के माध्यम से पोलो फॉरेस्ट जा सकते हैं।

ठहरने के लिए जगह (Best Place to Stay in Polo Forest)

यहाँ पर ठहरने के लिए होटल या रिसोर्ट हैं इसके साथ आप गवर्मेंट कैंप साईट पर भी रुक सकते हैं।गवर्नमेंट कैंप होटल और रिसोर्ट से सस्ता पड़ता है। यहाँ रहने के लिए पहले आपको हिम्मत नगर वन विभाग के माध्यम से इसको बुक करना होगा।

Map of Polo Forest

Previous Post
Next Post

0 comments: