रविवार, 27 सितंबर 2020

दातार हिल जूनागढ़, जाने से पहले जानें ये बातें | Datar Hills, Junagadh in Hindi

Datar-Hills-Stairs

दातार हिल एक पवित्र स्थल है जो गुजरात के जूनागढ़ शहर में स्थित है। दातार पर्वत गिरनार पर्वत के ठीक सामने स्थित है। दातार पर्वत मुस्लिम और हिंदू दोनों धर्म के श्रद्धालुओं लिए बहुत ही लोकप्रिय स्थान है। दातार हिल जूनागढ़ शहर में आने वाले पर्यटको के लिए सबसे अधिक घूमने लायक स्थानों में से एक है। दातार पर्वत गुजरात के सबसे लोकप्रिय तीर्थ स्थानों में से एक है। इस जगह का वातावरण बहुत ही अदभुत है और पहाड़ियां प्राकृतिक सुंदरता से भरी हैं।

जानिए जुनागढ़ के बारे में

Dataar hills

जमियल शाह दातार की दरगाह - दातार हिल (Jamiyalsha Datar Dargah)

दातार हिल के शिखर पर जमियल शाह दातार की दरगाह है जो 2,779 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। इसीलिए यह सौराष्ट्र क्षेत्र में एक लोकप्रिय धार्मिक स्थल है क्योंकि यहाँ जमियल शाह दातार की दरगाह है। जमियल शाह दातार की दरगाह तक पहुँचने के लिए 3,000 सीढ़ियाँ चढ़नी पड़ती हैं जो वेलिंगटन डैम से शुरू होती है। वेलिंगटन डैम अंग्रेजों द्वारा कालवा नदी पर बनाया गया था। दातार पर्वत को उपला दातार के नाम से भी जाना जाता है।

दातार पर्वत के नगारिया पत्थर यहां आने वाले लोगके का केन्द्र है. यह पत्थरों की खासियत यह है कि इन पत्थरों को ठोकर मारते ही इसमें से नगाड़े बजने की आवाज आने लगती है.

Junagadh-city-view-from-top-of-datar-hills

दातार पर्वत (उपला दातार) दर्शन (Upper Datar Dargah)

 वर्षा-ऋतु (बारिश) के दौरान यह स्थान और भी ज़्यादा आकर्षक हो जाता है और यहाँ आप पहाड़ियों से नीचे बहते हुवे झरने का मज़ा ले सकते है। पर्यटक शिखर पर जाते समय चीथरीया पीर, हाथी पत्थर, कोयला वजीर और दिगंबर जैन भगवान नेमिनाथ मंदिर के भी दर्सन कर सकते हैं। दातार हिल्स बोहोत ही खूबसूरत जगह है और कुछ समय बिताने के लिए ये बोहोत अच्छा स्थान हैं। रोजाना कई पर्यटक इस जगह पर आते हैं और इस जगह का आनंद लेते है। दातार शिखर से, नीचे जूनागढ़ शहर का एक शानदार दृश्य भी देख सकते हैं।

चीथरीया पीर - Chithariya Pir
चीथरीया पीर

यह पवित्र स्थल अपने 5 दिनों के उर्स त्योहार के लिए लोकप्रिय है, जिसे हर साल यहाँ बहुत धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इन पांच दिनों के दौरान कम से कम 3 लाख लोग दातार तीर्थ यात्रा करते हैं, ये मुस्लिम और हिंदू दोनोंकि सच्ची भारतीय धर्मनिरपेक्ष संस्कृति और परंपराओं का प्रतीक है। उर्स की पहली रात के दौरान मुस्लिम चादर चढ़ाते हैं और हिंदू पूजा करते हैं। सभी आभूषण जिन्हें वर्ष भर गुफा के अंदर रखा जाता है उन्हे इस रातको सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए बाहर लाया जाता है।

हाथी पत्थर - Hathi Patthar
हाथी पत्थर

निचला दातार दर्शन (Lower Datar Dargah)

जमियल शाह दातार की दरगाह पहाड़ी के नीचे भी स्थित है जिसे निचला दातार के नाम से भी जाना जाता है। यह एक मकबरा है जो बड़े नक्काशीदार गुंबद और छोटे मीनारों के साथ बनाया गया है। कई बीमारियों से पीड़ित लोग इलाज की उम्मीद में इस दरगाह पर आते है। यहा पर दातार मस्जिद भी है जहा हररोज़ मुस्लिम 5 वक्त की नमाज़ पढ़ते है। निचला दातार में दिव्यता और आध्यात्मिक स्पंदन की अनुभूति होती है। यह स्थान शहर के बहुत करीब है। हिंदू और मुस्लिम दोनों इस जगह पर पूजा और प्रार्थना करते हैं।

कोयला वजीर - Koyla vajir
कोयला वजीर

दातार पर्वत जानेका समय (Best Titme to visit Datar Hills)

अक्टूबर, नवंबर, दिसंबर और जनवरी दातार पर्वत घूमने का सबसे अच्छा समय है
दातार पर्वत का समय सुबह के 6:00 बजे से लेकर शाम के 6:00 बजे तक का है. दातार पर्वत पर चढ़ने के लिए सुबह का वक्त ही सबसे सही समय होता है।

दातार पर्वत प्रवेश शुल्क (Datar Hills Entrance Fee)

दातार पर्वत पर जाने का कोई शुल्क नहीं है। यह बिल्कुल मुफ्त है।

दातार हिल्स तक कैसे पहुँचें (How to Reach Datar Hills)

दातार पर्वत तक पहुँचने के लिए आप बस स्टेशन या रेलवे स्टेशन से ऑटो प्राप्त कर सकते हैं।

मुझे उम्मीद है कि आपको दातार हिल्स की पोस्ट पसंद आई होगी, अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो, तो अपनी  प्रतिक्रिया (Reaction) अवश्य दें। कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करें और इस ब्लॉग को Follow करें और इस तरह की पोस्ट प्राप्त करें

अगर आप दातार पर्वत पर गये है तो Comment (टिप्पणी) मे अपना अनुभव ज़रूर बताएं

जमियल शाह दातार की दरगाह - निचला दातार
जमियल शाह दातार की दरगाह - निचला दातार

दिगंबर जैन भगवान नेमिनाथ
 दिगंबर जैन भगवान नेमिनाथ


Previous Post
First

0 comments: